गुड मॉर्निंग न्यूज़छत्तीसगढ़टॉप न्यूज़देशबिलासपुरयुवाराज्यशैक्षणिकसामाजिकसांस्कृतिक
Trending

विभिन्न विश्व नेताओ की भूमिका निभाएंगे स्कूली बच्चे, आईआईएमयूएन संगठन एवं कैरियर प्वाइंट वर्ल्ड स्कूल बिलासपुर का सबसे बड़ा शैक्षणिक आयोजन

उद्घाटन समारोह के अवसर पर कैरियर प्वाइंट वर्ल्ड स्कूल में मुख्य अभ्यागत के रूप में एक प्रसिद्ध भारतीय फिल्म निर्माता, भारतीय प्रोडक्शन के लिए पहली महिला ऑस्कर विजेता, बाफ्टा नामांकित और एकेडमी ऑफ मोशन पिक्चर आर्ट्स एंड साइंसेज में शामिल होने वाली भारत की पहली निर्माता सुश्री गुनीत मोगा के साथ आईआईएमयूएन के संस्थापक और पूर्व अध्यक्ष ऋषभ शाह उपस्थित रहे।।

(मुकेश शर्मा)

डमरुआ न्यूज/बिलासपुर । सभी वर्ग के विद्यार्थियों को बेहतर शिक्षा प्रदान करने संकल्पित, सदैव नए नए प्रयोगों और शिक्षा साधनों के माध्यम से विद्यार्थियों को जागरूक, शिक्षित, संबल, बनाने प्रयासरत अग्रणी शिक्षण संस्थान कैरियर प्वाइंट वर्ल्ड स्कूल बिलासपुर में सबसे बड़ा शैक्षणिक आयोजन 24 से 26 नवंबर 2023 तक आईआईएमयूएन के सहयोग से आयोजित की जा रही है। जिसमे 1000 से अधिक छात्र एमयूएन प्रारूप में विभिन्न समितियों में भाग लेंगे और विभिन्न विश्व नेताओ की भूमिका निभाएंगे जहां पर कूटनीति, बातचीत, सार्वजनिक रूप से बोलना सीखेंगे।

कार्यक्रम के उद्घाटन समारोह के अवसर पर कैरियर प्वाइंट वर्ल्ड स्कूल में मुख्य अभ्यागत के रूप में एक प्रसिद्ध भारतीय फिल्म निर्माता, भारतीय प्रोडक्शन के लिए पहली महिला ऑस्कर विजेता, बाफ्टा नामांकित और एकेडमी ऑफ मोशन पिक्चर आर्ट्स एंड साइंसेज में शामिल होने वाली भारत की पहली निर्माता सुश्री गुनीत मोगा के साथ आईआईएमयूएन के संस्थापक और पूर्व अध्यक्ष ऋषभ शाह की उपस्थिति रही।

उद्घाटन समारोह के दौरान लघु फिल्म/वृत्तचित्र का भी प्रदर्शन किया गया। 25 सितंबर को 20 कक्षाओं में 20 समितियों के बीच वाद – विवाद सत्र का आयोजन होगा समापन समारोह 26 नवंबर को आयोजित किया जाएगा जिसमे पूर्व आईएफएस अधिकारी और एमआईआईसीसीआईए चैंबर ऑफ कामर्स के सलाहकार जितेंद्र त्रिपाठी और राष्ट्रीय स्तर की एथलीट एवं अभिनेत्री चित्रांशी रावत भी शामिल होंगी। सम्मेलन के अंत में शोध के आधार पर सर्वश्रेष्ठ स्कूल प्रतिनिधिमंडल को ट्रॉफी से सम्मानित किया जाएगा।

आईआईएमयूएन संगठन का उद्देश्य भारत के विचार को विश्व में प्रसारित करना

आईआईएमयूएन के संस्थापक और पूर्व अध्यक्ष ऋषभ शाह ने पत्रकारो से चर्चा करते हुए बताया कि संगठन का उद्देश्य कल के नेताओ को आज संवेदनशील बनाकर दुनिया को भारतीय तरीके से एकजुट करना है। 2011 में स्थापित हुई संस्था का पहला सम्मेलन 2012 में होने के साथ राष्ट्रों को एकजुट करने अंतरराष्ट्रीय आंदोलन में पिछले एक दशक में 5 करोड़ से अधिक छात्र इस सम्मेलन में भाग ले चुके है। यह संगठन 26000 से अधिक छात्रों की एक बड़ी टीम है जो संगठित होने में मदद करती है। सम्मेलन पूर्व प्रतिभागी/सदस्य अन्य बातों के अलावा सरकार के निर्वाचित सदस्य, वकील, लेखक, और व्यापारिक नेता बन गए है।

संगठन का नेतृत्व एक सलाहकार बोर्ड द्वारा किया जाता है। जिसमे सशस्त्र बलों के पूर्व प्रमुख -जनरल वी.पी. मलिक, एडमिरल आर.के. धोवन, एसीएम पी. वी. नाइक, अजय पीरामल, दीपक पारेख, डॉ.शशि थरूर, ए.आर.रहमान, सहित अन्य है। संगठन का मुख्य संदेश भारत के 220 शहरों और 35 देशों में 3 दिवसीय सम्मेलन,मासिक पत्रिका,डिजिटल गतिविधियों और अन्य माध्यमों से भारत के विचार को फैलाना है। संगठन ने 20,000 से अधिक वक्ताओं के बीच राष्ट्र प्रमुखों, नोबेल पुरुस्कार विजेताओं, हॉलीवुड और सिनेमा के कई दिग्गजों की मेजबानी की है।

भारतीय फिल्म निर्माता पहली महिला ऑस्कर विजेता गुनीत मोगा

एक प्रसिद्ध भारतीय फिल्म निर्माता, भारतीय प्रोडक्शन के लिए पहली महिला ऑस्कर विजेता, बाफ्टा नामांकित और एकेडमी ऑफ मोशन पिक्चर आर्ट्स एंड साइंसेज में शामिल होने वाली भारत की पहली निर्माताओं में सुश्री गुनीत मोगा एक है। वह 2023 अकादमी पुरुस्कार विजेता, वृत्तचित्र लघु फिल्म द एलिफेंट व्हेसपरर की निर्माता है। सिख्या एंटरटेनमेंट की संस्थापक सुश्री गुनीत मोगा ने द लंचबॉक्स, मसान, गैंग्स ऑफ वासेपुर, पगलेट, मानसून शूटआउट, पेडलर्स, और ऑस्कर विनिग शार्ट डॉक्युमेंटरी पीरियड जैसी फिल्नो के साथ कंटेंट संचालीत सिनेमा को आगे बढ़ाया। इन्होंने इंडियन वूमेन राइजिंग नामक एक सिनेमा समुह की स्थापना की। 2021 में गुनीत मोगा को द लंचबॉक्स, मसान, ताजमहल जैसी फिल्मों के माध्यम से इंडो फ्रेंच सिनेमाई और सांस्कृतिक सहयोग के लिए फ्रांसीसी सरकारके द्वारा सम्मानित किया गया था।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
error: Content is protected !!
×

Powered by WhatsApp Chat

×