Uncategorizedछत्तीसगढ़छत्तीसगढ़ पुलिस

वीडिओ : रायगढ़ पुलिस की गुंडागर्दी @ पुलिसिया पिटाई से ढाई दिन तक रहा बेहोश, थानेदार ने रिपोर्ट नहीं लिखी और एसपी ने फाड़ा आवेदन

Damru news/ Raigarh. वाहनों की जांच करने के लिए हाईवे में डंडा अड़ाकर  वाहनों को रोकने के दौरान पुलिस को समझाइश देना एक युवक को काफ़ी महंगा पड़ गया, युवक ने जांचकर्ता पुलिसकर्मियों को यह कहा कि  वाहनों को इस प्रकार रोकने से एक्सीडेंट हो सकते हैं, यह बात पुलिसकर्मियों को इतनी नागवार गुजरी कि उन्होंने उस युवक की बुलेट को डंडों व पत्थरों से कुचल डाला और वही हाल उस युवक का भी बना डाला. पुलिस की बेतहाशा पिटाई के कारण युवक जमीन पर बेहोश होकर गिर पड़ा, पुलिस का दिल इतने पर भी नहीं पसीझा. बुलेट में पीछे बैठे आहत युवक के दोस्त ने बेहोशी की अवस्था में उसे अस्पताल में भर्ती कराया, जहां आहत की हालत गंभीर और बेहोशी में देखते हुए डॉक्टर ने उसे रायपुर रिफर कर दिया. आहत युवक की माने तो वह घटनास्थल से रायपुर जाने और वहां भर्ती रहने तक ढाई दिन तक बेहोश रहा और चार दिन बाद वह किसी को पहचानने की स्थिति में आ सका. मोटर व्हीकल एक्ट के तहत चालान वसूलने के लिए रायगढ़ पुलिस द्वारा अपनाया गया ऐसा रवैया न केवल अमानवी है बल्कि यह पुलिस की गुंडागर्दी की चर्चाओं को भी पुख्ता करता हुआ दिखाई देता है. आहत युवक की माने तो पुलिस का अत्याचार यहीं पर समाप्त नहीं हुआ, बल्कि जब आहत युवक अस्पताल में भर्ती था उस दौरान उसके परिजन जुट मिल थाना पहुंचे जहां घटना की रिपोर्ट लिखानी चाही लेकिन यहां पदस्थ थानेदार रामकिंकर यादव ने उन्हें उल्टे पैर लौटा दिया. जब आहत युवक के परिजन पुलिस अधीक्षक के पास अपनी फरियाद लेकर पहुंचे तो आवेदक को ही फाड़ दिया ऐसा आहत युवक का कहना है.

आहत युवक की जुबानी रायगढ़ पुलिस की कहानी

मै राजा अजय पिता भागबली अजय उम्र 27 वर्ष निवासी ग्राम- तिलाईदादर, तह. सारंगढ, जिला बिलाईगढ़-सारंगढ़ (छ.ग.) निवेदन करता हूॅ, कि दिनांक 12.12.2023 को मै अपनी बुलेट मोटर सायकल पंजीयन क्रं सीजी13 एएस 3966 का सर्विसिंग कराने के लिये विशाल कुमार जोल्हे को मोटर सायकल में बैठाकर अपने गांव तिलाईदादर से पटेलपाली स्थित शो रूम आ रहा था, तभी सुबह 10ः30 बजे कोड़ातराई से रायगढ़ आने वाली बाईपास रोड में चार-पॉच पुलिस वाले बीच रास्ते में मेरी बाईक रोकने के लिये डंडा अड़ा दिये तो मै गाड़ी रोक दिया और पुलिस वालो को बोला कि इस तरह से गाड़ी रोकने से गाड़ी का एक्सीडेंट हो सकता है, जिससे वहॉ उपस्थित पुलिस वाले नाराज हो गये और लाठी डंडा व पास पड़े पत्थरो से मोटर सायकल को तोड़ने लगे मेरे मना करने पर हाथ में रखे लाठी-डंडा से मेरे सिर व पुरे शरीर में मारने लगे पुलिस वालांे के मारने के कारण मेरी बायें ऑख के उपर आईब्रो फट गया था और बाये ऑख के नीचे गहरी चोट आयी थी तथा सिर की बायी तरफ आगे की ओर फट गया था और मेरे कान से खून निकलने लगा था, मेरे माथे में भी मारने के कारण फट गया था खून निकल रहा था और मुह में डंडा से प्रहार करने के कारण जबड़ा टुट गया और मै बेहोश होकर गिर गया मेरे बेहोश हो जाने के बाद मुझे सीधा रायपुर में होश आया, जहॉ मुझे बताया गया कि मै ढाई दिन से बेहोश था पुलिस वालों के मारपीट करने से मेरे जबड़े का ईलाज हुआ और ऑख के उपर की हड्डी व माथे की हड्डी को ऑपरेशन के द्वारा जोड़ा गया और मेरे कान का और बाकी ऑपरेशन हुये अंगो का ईलाज चल रहा है मेरे जबड़े की नश टुट चुकी थी, मेरा पुरा चेहरा बिगड़ गया है, आज भी मेरे चेहरे के बायी ओर का भाग शून्य है, जिसे छूने पर महसूस नही होता है। मेेरे चल रहे ईलाज से संबंधित दस्तावेजों की छायाप्रतियॉ इस आवेदन के साथ संलग्न कर रहा हूॅॅ, गाड़ी का सर्विसिंग कराने के लिये मै और मेरा दोस्त विशाल कुमार जोल्हे मेरी मोटर सायकल में आ रहे थे, विशाल मेरी मोटर सायकल के पीछे बैठा था, इसलिये वह पूरी घटना को देखा है, विशाल ने ही मुझे बेहोश होने के बाद हास्पिटल पहुचाया था। मेरी मोटर सायकल कहॉ से इसकी जानकारी मुझे नही है। मेरे साथ जानलेवा मारपीट करने वाले पुलिस वालो के के खिलाफ अपराध दर्ज कर कार्यवाही करनेेेेेेेेेेेेे की कृपा करे।

 उल्टा पुलिस ने युवक पर गंभीर धाराओं के तहत दर्ज किया मामला

इस संबंध में पतासाजी की गई तो यह जानकारी मिली कि उसी घटना दिनांक को जुट मिल पुलिस ने एक अजूबा कर दिखाया. आहत युवक पर ही उल्टा FIR दर्ज कर दिया है, वो भी शासकीय कार्य में बाधा और पुलिस कर्मियों को जान से मारने की कोशिश, मारपीट व गाली गलौज जैसी गंभीर धाराओं के तहत उस युवक पर जूट मिल पुलिस ने धारा लगा दी ऐसे युवक पर जो ढाई दिन तक पुलिस के कारण बेहोश पड़ा रहा. और पुलिस द्वारा दर्ज किए गए FIR से यह तो तय है कि  पुलिस कर्मियों एवं आहत युवक के बीच संघर्ष तो जरूर हुआ था, इसीलिए पुलिस ने  उसे युवक को इतना मारा कि उसकी जान चली जाए. अब रायगढ़ पुलिस सहित जूट मिल थाना प्रभारी की उच्च अधिकारियों से शिकायत की गई है.

क्या कहते हैं थाना प्रभारी
इस संबंध में जूटमिल थाना प्रभारी रामकिंकर यादव ने बताया कि युवक ने वाहन चेकिंग कर रहे पुलिस के एक जवान पर बुलेट चढ़ा दी थी, जिससे उस पुलिस जवान को गंभीर चोट आई है और बुलेट सवार युवक खुद ही गिर गया है जिससे उसे चोट आई थी। चोट लगने के बाद पुलिस जवान स्वयं एसएसपी के समक्ष उपस्थित होकर घटना की जानकारी दिया था।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
error: Content is protected !!
×

Powered by WhatsApp Chat

×