टॉप न्यूज़बिलासपुर

रेलवे सुरक्षा बल द्वारा लखनऊ में 67वीं अखिल भारतीय पुलिस ड्यूटी मीट का आयोजन किया जाएगा

रेलवे सुरक्षा बल, दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे की होगी भागीदारी,आरपीएफ के महानिदेशक द्वारा इस आयोजन हेतु मोबाइल एप्लिकेशन और वेबसाइट लॉन्च

डमरुआ न्युज/बिलासपुर । रेलवे सुरक्षा बल 12 फरवरी से 16 फरवरी, 2024 तक लखनऊ में 67वीं अखिल भारतीय पुलिस ड्यूटी मीट (एआईपीडीएम) आयोजित करेगी । इस कार्यक्रम की जिम्मेदारी एआईपीडीएम की केंद्रीय समन्वय समिति ने आरपीएफ को सौंपी है । कानून प्रवर्तन क्षेत्रों में प्रसिद्ध इस कार्यक्रम का उद्देश्य आंतरिक सुरक्षा को बढ़ाने के लिए अपराधों की वैज्ञानिक अनुसंधान और जांच की दिशा में पुलिस अधिकारियों के बीच उत्कृष्टता तथा सहयोग को बढ़ावा देना है। इस आयोजन के लिए मोबाइल एप्लिकेशन और वेबसाइट लॉन्च की गई । रेलवे सुरक्षा बल दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे इस आयोजन में महत्वपूर्ण भूमिका होगी ।

67वीं अखिल भारतीय पुलिस ड्यूटी मीट कानून प्रवर्तन पेशेवरों के एकजुट होने, सीखने और जांच-पड़ताल उत्कृष्टता के सामूहिक प्रयास को मजबूत करने का भी आह्वान करती है । इस आयोजन में विभिन्न प्रकार की प्रतियोगिताओं जैसे- जांच में वैज्ञानिक सहायता, पुलिस फोटोग्राफी, कंप्यूटर जागरूकता, विशेष कैनाइन यूनिट प्रतियोगिता, तोड़फोड़ निरोधक जांच और पुलिस वीडियोग्राफी के साथ यह पुलिस ड्यूटी मीट कानून प्रवर्तन कर्मियों के लिए अपनी योग्यताओं को निखारने और श्रेष्ठ प्रक्रियाओं के आदान-प्रदान के लिए एक मंच के रूप में कार्य करती है ।

यह कार्यक्रम जगजीवन राम आरपीएफ अकादमी, लखनऊ में 12 फरवरी से 16 फरवरी, 2024 तक आयोजित की जाएगी । वर्ष 1955 में स्थापित जगजीवन राम आरपीएफ अकादमी, लखनऊ प्रोबेशनर्स, आईआरपीएफएस कैडर अधिकारियों और आरपीएफ सब-इंस्पेक्टर कैडेटों के लिए एक प्रमुख प्रशिक्षण संस्थान के रूप में कार्य कर रही है । यह साइबर अपराध और आपदा प्रबंधन जैसे उभरते क्षेत्रों में पाठ्यक्रम भी प्रदान करती है । सहयोग की भावना से, अकादमी ने रेलवे रक्षकों के लिए व्यापक प्रशिक्षण सुनिश्चित करने के लिए आईएनएमएएस-डीआरडीओ, एसवीपी-एनपीए, बीपीआरएंडडी और एनआईएसए जैसे प्रतिष्ठित संस्थानों के साथ साझेदारी की है ।
आरपीएफ अधिनियम, 1957 के तहत वर्ष 2004 में स्थापित रेलवे सुरक्षा बल तभी से ही रेलवे संपत्ति की सुरक्षा और यात्रियों तथा उनके सामानों को सुरक्षा प्रदान करने में सहायक रहा है। यह उल्लेखनीय है कि आरपीएफ में 9 प्रतिशत महिलाओं का प्रतिनिधित्व है जो भारतके सभी सशस्त्र बलों में सबसे अधिक है।यात्री तथा रेलवे संपत्ति की सुरक्षा में रेलवे सुरक्षा बल अपनी महत्वपूर्ण भूमिका है ।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
error: Content is protected !!
×

Powered by WhatsApp Chat

×