चुनावटॉप न्यूज़रायगढ़

राष्ट्रीय एवं राज्य स्तर के मास्टर ट्रेनरों ने तीन जिलों के अधिकारी-कर्मचारियों को दी मतगणना संबंधी प्रशिक्षण

  • मास्टर ट्रेनरों ने मतगणना में सभी प्रक्रियाओं एवं सावधानियां का विशेष ध्यान रखने के दिए निर्देश
  • कलेक्टर गोयल ने कहा मतगणना के दौरान समय का रखे विशेष ख्याल, प्रक्रिया के संबंध में शंकाओं को करें दूर
  • प्रशिक्षण में शामिल हुए रायगढ़, जशपुर एवं सारंगढ़-बिलाईगढ़ जिले के अधिकारी-कर्मचारी

डमरुआ न्युज/रायगढ़- विधान सभा आम निर्वाचन-2023 के मतदान प्रक्रिया के पश्चात आगामी 3 दिसंबर को होने वाले मतगणना के लिए राष्ट्रीय स्तर के मास्टर ट्रेनर प्रणव सिंह, यू.एस.अग्रवाल एवं राज्य स्तर के मास्टर ट्रेनर विनय ताम्रकार ने आज रायगढ़ के कलेक्ट्रेट सभाकक्ष में अधिकारियों को मतगणना संबंधी प्रशिक्षण प्रदान किया। ताकि मतगणना कार्य सुचारू एवं निर्बाध रूप संपन्न हो सकें। इस मौके पर कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारी कार्तिकेया गोयल, अपर कलेक्टर एवं उप जिला निर्वाचन अधिकारी राजीव कुमार पाण्डेय उपस्थित रहें। प्रशिक्षण में रायगढ़ सहित जशपुर एवं सारंगढ़-बिलाईगढ़ जिले के अधिकारी-कर्मचारी शामिल हुए।

आयोजित प्रशिक्षण कार्यक्रम में राष्ट्रीय स्तर के मास्टर ट्रेनर प्रणव सिंह, यू.एस.अग्रवाल तथा राज्य स्तरीय मास्टर ट्रेनर विनय ताम्रकार ने सभी अधिकारियों को मतगणना प्रक्रिया की संपूर्ण जानकारी दी। उन्होंने कहा कि मतगणना की प्रक्रिया भारत निर्वाचन आयोग के दिशा-निर्देश के अनुरूप किया जाना हैं। मतगणना के लिए राजनीतिक दलों के प्रतिनिधियों की जानकारी प्रदान करने के साथ ही अभ्यर्थियों के अभिकर्ताओं के लिए परिचय पत्र जारी किया जाना हैं। उन्होंने मतगणना कक्ष में प्रवेश संबंधी सावधानियों की जानकारी दी एवं कहा कि कक्ष में अनिवार्य रूप से मोबाइल वर्जित किया गया हैं, इसका विशेष ध्यान रखे। इसके साथ ही उन्होंने मतगणना केंद्र में व्यापक सुरक्षा व्यवस्था के संबंध में जानकारी दी।

इस दौरान उन्होंने मतगणना प्रक्रिया में आसानी हेतु टेबल वृद्धि के संबंध में जानकारी दी एवं आवश्यकतानुसार टेबल वृद्धि के लिए अनुमति की बात कही। उन्होंने मीडिया प्रवेश के संबंध में भी आवश्यक जानकारी प्रदान की। उन्होंने डाक मतपत्र के संबंध में जानकारी देते हुए बताया कि डाकमत पत्र के पात्र एवं अपात्र निर्णय पश्चात उनकी गणना की जाएगी। सर्विस वोटर्स से वापस प्राप्त डाक मतपत्रों की गणना भी उसी दिन सबेरे की जाएगी, इसके लिए भी समुचित तैयारी करें। ईवीएम मशीन से मतगणना, मतगणना केन्द्र की आधार भूत संरचना, गणना केन्द्र में बैठक व्यवस्था, वीवीपैट पर्चियों से मतगणना, राउंड डिक्लेरेशन, परिणाम घोषणा से पूर्व की प्रक्रिया, मतगणना कक्ष में वीडियोग्राफी के संबंध में भी विस्तारपूर्वक जानकारी देते हुए मतगणना कक्ष में बरती जाने वाली सावधानियों से अवगत कराया। प्रशिक्षण कार्यक्रम में ईवीएम मशीनों के माध्यम से अधिकारियों को भौतिक रूप से मतगणना संबंधी जानकारी दी गई। इस दौरान उन्होंने प्रश्नोत्तर के माध्यम से अधिकारियों से मतगणना संबंधी प्रश्न पूछे।

प्रशिक्षण में कलेक्टर गोयल ने सभी अधिकारियों को भारत निर्वाचन आयोग के निर्देशों का पालन करने एवं मतगणना में लगने वाले समय का विशेष ध्यान रखने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि प्रशिक्षण के पश्चात सभी आपसी समन्वय करते हुए प्रक्रिया की शंकाओं को दूर करें। इसके साथ ही प्रत्याशी एवं प्रतिनिधियों को मतगणना से संबंधित जानकारी प्रदान करना सुनिश्चित करें। इस दौरान अपर कलेक्टर पाण्डेय ने अधिकारियों को मतगणना प्रक्रिया में बरती जाने वाली आवश्यक सावधानियों के संबंध में जानकारी दी। जिला मास्टर ट्रेनर राजेश डेनियल ने मतगणना से पूर्व ईवीएम के संचालन के संबंध में जानकारी दी।

प्रशिक्षण में तीनों जिलों के उप जिला निर्वाचन अधिकारी, रिटर्निंग ऑफिसर, सहायक रिटर्निंग ऑफिसर, मतगणना सहायक रिटर्निंग ऑफिसर, पोस्टल बैलेट नोडल अधिकारी, ईवीएम नोडल अधिकारी, सुरक्षा नोडल अधिकारी, प्रत्येक विधानसभा क्षेत्र के मास्टर ट्रेनर उपस्थित रहें।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
error: Content is protected !!
×

Powered by WhatsApp Chat

×