छत्तीसगढ़रायगढ़

Raigarh News: उमस भरी गर्मी में बिजली आपूर्ति बंद होने से परेशान निगम कर्मी…..

डमरुआ न्युज/रायगढ़ । इन दिनों मानसून की विदाई हो चुकी है। शरद ऋतु का आगमन जल्द होने के आसार है लेकिन वर्तमान में सूरत देवता अक्टूबर माह में प्रचंड उमस भरे ताप से लोगो को हलाकान कर रहे है। इन सभी के बीच बिजली विभाग का कभी मेंटेनेंस तो कभी कुछ समस्या के चलते आपूर्ति बेहाल है। आलम यह है कि जोन वन क्षेत्र में सुबह कुछ घंटो के लिए बंद था। जिससे शहर वासी तो काफी परेशान रहे । वही इसका असर नगर निगम के कामकाज में भी नजर आया। जिसमे निगम के कुछ कर्मचारियों ने टार्च की मदद से जरूर कार्य को निपटाते हुए नजर आए जबकि कुछ चेंबर के कर्मचारियों ने गर्मी व अन्य कारणों के चलते कारीडोर में बैठकर बिजली आने की प्रतीक्षा करते रहे।

देखा जाए तो शहर में लंबे समय से बिजली की सधी आपूर्ति नही हो पा रही हैं। आपूर्ति बेहाल होने से हर वर्ग परेशान है। गर्मी से जूझना पड़ रहा है। जिसके चलते दिन हो या रात हर घंटे 3 घंटे में बिजली का आना जाना लगा हुआ है। जिससे शहर वासी परेशान है। इस वजह से वे अपनी नाराजगी को इंटरनेट मीडिया में तंज कसते है। इन समस्याओं के चलते लोगों में काफी नाराजगी है लेकिन उनके समस्या को सुनने वाले जिम्मेदार भी चाह कर भी समस्या को दूर नही कर पा रहे है। बताया जा रहा है कि डिमांड ज्यादा व लोड शेड के चलते इस तरह की समस्या आ रही है। बहरहाल शहर दोनों जोन में बिजली की आंख मिचौली से हर वर्ग परेशान है।

  • ग्रामीण आपूर्ति से शहर व ग्रामीण अंचल का हाल बेहाल

विद्युत आपूर्ति शहरी व ग्रामीण अंचल में अस्त व्यस्त है। जिसमे बीते दिन आदिवासी अंचल धरमजयगढ़ कापू, लैलूंगा व अन्य क्षेत्रों मे बिजली के जाने से घंटो तक आपूर्ति नही हो पा रही है। इससे ग्रामीण जनजीवन का दिनचर्या बेहाल है। विभिन्न कारणों से विद्युत आपूर्ति बंद होने की वजह से खेती किसानी के लिए पानी तक उपलब्ध नही हो पाता है। जिसके चलते फंसलो को भी नुकसान पहुंच रहा है। यही वजह है कि ग्रामीणों में काफी रोष विभाग कर प्रति है यह तब और बढ़ रही है जब शिकायत को सुनने वाले नजरअंदाज कर रहे है।

  • आपूर्ति बंद होने से अस्पताल में भर्ती मरीज व कामकाज प्रभावित

जोन वन में दिन एवं कई क्षेत्रों में दर्जनों बार विद्युत आपूर्ति बंद होने की शिकायत मिली है। इसके चलते इस क्षेत्र में संचालित जिला अस्पताल की व्यवस्था पर काफी बुरा असर पड़ता है। यहां भर्ती मरीजों को कई तरह की समस्या से जूझना पड़ता है। यही हाल स्वास्थ्य कर्मियों का भी है लेकिन वे चाह कर भी कुछ नही कर पाते है ।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
error: Content is protected !!
×

Powered by WhatsApp Chat

×