गगनयान मिशनटॉप न्यूज़दिल्लीदेश

इसरो ने गगनयान मिशन का पहला ट्रायल सफलतापूर्वक कर लिया, नरेंद्र मोदी ने वैज्ञानिकों को दी बधाई…

डमरुआ डेस्क/नई दिल्ली- ISRO चीफ एस सोमनाथ ने गगनयान मिशन से जुड़े ट्रायल को लेकर बड़ी खुशखबरी सुनाई है। उन्होंने बताया कि गगनयान मिशन के टेस्टिंग व्हीकल से अलग हुए क्रू मॉड्यूल को बंगाल की खाड़ी से बरामद कर लिया गया है। क्रू मॉड्यूल को चेन्नई पोर्ट पर लाया गया। इसरो के अनुसार, मानव अंतरिक्ष उड़ान मिशन गगनयान से पहले टीवी-डी1 परीक्षण यान को सुबह 10 बजे सफलतापूर्वक लॉन्च किया। क्रू मॉड्यूल रॉकेट से अलग हो गया और योजना के अनुसार बंगाल की खाड़ी में गिर गया।

ISRO चीफ एस सोमनाथ ने बताया, ‘क्रू मॉड्यूल अब समुद्र से पूरी तरह से बरामद हो गया है। इसे चेन्नई बंदरगाह पर लाया गया है।’ उन्होंने कहा, ‘सबकुछ ठीक है, सब सामान्य है। कोई विसंगति नहीं दिखी।’ इसरो प्रमुख ने कहा, ‘इसका मतलब वास्तव में अच्छा है। सभी डेटा बहुत अच्छे हैं।’ यह पूछे जाने पर कि अगली कवायद क्या होगी, सोमनाथ ने कहा कि इसरो गगनयान मिशन के लिए सिलसिलेवार परीक्षण करेगा।

इसके लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इसरो के वैज्ञानिकों को बधाई दी। उन्होंने ट्वीट करते हुए कहा कि यह लॉन्चिंग हमें भारत के पहले स्पेस मानव मिशन गगनयान को साकार करने के एक और कदम आगे ले जाता है। हमारे वैज्ञानिकों को मेरी शुभकामनाएं।

उन्होंने कहा, ’20 प्रमुख परीक्षण हैं। एक-एक करके हम इसे कर रहे हैं।’

इस बीच नौसेना ने कहा, ‘पूर्वी नौसैन्य कमान इकाइयों ने क्रू मॉड्यूल को बरामद कर लिया है-व्यापक योजना, नौसेना के गोताखोरों के प्रशिक्षण, मानक संचालन प्रक्रियाओं (एसओपी) के निर्माण और नौसेना और इसरो की संयुक्त टीम द्वारा संयुक्त संचार से मार्ग प्रशस्त।’ पूर्वी नौसैन्य कमान ने कवायद में लगे कर्मियों के साथ ‘क्रू मॉड्यूल’ की पुनर्प्राप्ति की एक तस्वीर भी सोशल मीडिया पर साझा की। ‘क्रू मॉड्यूल’ वह संरचना है, जहां गगनयान मिशन के दौरान अंतरिक्ष यात्रियों को अंतरिक्ष में दबावयुक्त पृथ्वी जैसे वातावरण के बीच रखा जाना है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
error: Content is protected !!
×

Powered by WhatsApp Chat

×