क्राइमटॉप न्यूज़रायगढ़

धरमजयगढ़ और कापू पुलिस ने की ह्यूमन ट्रैफिकिंग रैकेट पर बड़ी कार्रवाई…..

नाबालिक लड़कियों को काम दिलाने के बहाने महानगर लेकर जा रहे 3 आरोपी गिरफ्तार, मानव तस्करी का हुआ खुलासा…..

कापू थानाक्षेत्र की घटना, आरोपियों को अपहरण और मानव तस्करी की संगीन धाराओं में गिरफ्तार कर भेजा गया जेल…..

रायगढ़ । एसएसपी सदानंद कुमार के निर्देशन एवं एसडीओपी धरमजयगढ़ दीपक मिश्रा के नेतृत्व पर कापू और धरमजयगढ़ पुलिस ने संयुक्त कार्रवाई कर मानव तस्करी गिरोह का खुलासा करते हुए 4 नाबालिग लड़कियों को आरोपियों के चंगुल से मुक्त कराकर उनके परिवारजन को सौंपा गया है। इस मामले में कापू पुलिस ने 3 आरोपियों को अपहरण और मानव तस्करी की संगीन धाराओं में गिरफ्तार कर रिमांड पर भेजा है।

विदित हो कि जिले के धरमजयगढ़ और लैलूंगा तहसील के कुछ गांव से युवक/युवतियों एवं नाबालिकों को महानगरों में अच्छा काम दिलाने के बहाने प्लेसमेंट एजेंसियो के हवाले किये जाने की घटनाएं पूर्व में आती रही है जिन पर प्रशासन व पुलिस द्वारा कार्यवाही से इन घटनाओं पर अंकुश लगाया गया जिसमें पुलिस के आपरेशन मुस्कान की अहम योगदान रहा है । साथ ही पुलिस समय-समय पर गांव-गांव में जन चौपाल एवं चलित थाना जैसे कार्यक्रम कर ग्रामीणों को जागरुक कर रही है कि ऐसे प्रलोभन में ना आये और ऐसी कोई भी सूचना तत्काल नजदीकी थाने को दिया जावे । इसी क्रम में थाना प्रभारी कापू निरीक्षक नारायण सिंह मरकाम को गत दिनों ग्रामीणों से सूचना मिली कि ग्राम पारेमेर का पुनाराम यादव, दुर्जन यादव और पुनाराम का लड़का खीरो सागर कुछ गांव में लड़के-लड़कियों को महानगरों में अच्छा काम दिलाने को लेकर चर्चा किया गया है । थाना प्रभारी द्वारा ग्रामीणों को उनके झांसे में ना आकर पुनाराम और उनके साथियों पर निगाह रखने कहते हुए उच्च अधिकारियों को जानकारी से अवगत कराया गया । वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक सदानंद कुमार द्वारा सूचना को गंभीरता से लेते हुए एसडीओपी धरमजयगढ़ दीपक मिश्रा को अनुविभाग के थानों की टीम बनाकर संदेहियों को तत्काल हिरासत में लेकर विधि अनुरूप कार्यवाही का निर्देश दिया गया । इसी बीच 30 नवंबर के सुबह थाना प्रभारी कापू को पुनाराम यादव और उसके साथियों द्वारा क्षेत्र की 4 नाबालिक लड़कियों को काम दिलाने के बहाने बहला-फुसलाकर लाकर गांव से ले जाने की सूचना प्राप्त हुई । थाना प्रभारी द्वारा आरोपियों पर अपहरण एवं मानव तस्करी की धाराओं के तहत अपराध कायम कर तत्काल थाना प्रभारी कापू द्वारा वरिष्ठ अधिकारियों के मार्गदर्शन पर अंतराल के थाने धरमजयगढ़, पत्थलगांव, घरघोड़ा, छाल, लैलूंगा, चौकी रैरूमाखुर्द को नाबालिक लड़कियों एवं संदेहियों की जानकारी देकर पतासाजी हेतु कहा गया ।

थाना प्रभारी धरमजयगढ़ निरीक्षक अमित तिवारी द्वारा अपने थाने की टीम के साथ तत्काल धरमजयगढ़ बस स्टैंड पहुंचे । जहां 3 व्यक्तियों के साथ 4 नाबालिक लड़कियां बस का इंतजार करते मिली जिन पर संदेह होने से थाना प्रभारियों द्वारा तीनों व्यक्यिों से पूछताछ किया गया जिनका जवाब संतोषजनक प्राप्त नहीं होने पर महिला कांस्टेबल द्वारा लड़कियों को अपने विश्वास में लेकर पूछताछ करने पर लड़कियों ने बताया कि वे तीन व्यक्ति उन्हें काम दिलाने के लिए बस से रायगढ़ और रायगढ़ से दूसरे शहर लेकर जा रहे हैं । थाना प्रभारी धरमजयगढ़ द्वारा थाना प्रभारी कापू को संदेहियों को हिरासत में लिये जाने की जानकारी साझा करने पर थाना प्रभारी कापू द्वारा गवाहों एवं बालिकों के परिजनों के समक्ष बालिकाओं को दस्तयाब कर उनके उम्र संबंधी दस्तावेजों की जांच किया जिसमें सभी लड़कियां नाबालिक पाई गई जिन्हें उनके परिजनों की सहमति के बिना आरोपियों द्वारा बहला-फुसलाकर अन्यत्र स्थान ले जाना पाया गया । थाना प्रभारी कापू द्वारा अपहरण एवं मानव तस्करी के अपराध में तीनों आरोपी (1) दुर्जन यादव पिता भुवन यादव उम्र 40 साल (2) खीरोसागर यादव पिता पुनाराम यादव उम्र 25 साल (3) पुनाराम यादव पिता स्वर्गीय मुनू राम यादव 50 साल सभी निवासी पारेमेर थाना कापू जिला रायगढ़ को गिरफ्तार कर न्यायिक रिमांड पर भेजा गया है ।

वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक सदानंद कुमार एवं एडिशनल एसपी संजय महादेवा के दिशा निर्देशन तथा एसडीओपी धरमजयगढ़ दीपक मिश्रा के सतत पर्यवेक्षण एवं मार्गदर्शन पर यथाशीघ्र आरोपियों के चंगुल से नाबालिग बालिकाओं को मुक्त कराने में थाना प्रभारी धरमजयगढ़ निरीक्षक अमित तिवारी, थाना प्रभारी कापू निरीक्षक नारायण सिंह मरकाम एवं उनके हमराह स्टाफ की सराहनीय भूमिका रही है ।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
error: Content is protected !!
×

Powered by WhatsApp Chat

×