छत्तीसगढ़जशपुरटॉप न्यूज़सोशल मीडिया

बड़ी खबर : आगडीह एयरस्ट्रिप में चार्टर प्लेन में अजय जामवाल को एक घण्टे तक रुकना पड़ा,आखिर क्यों?पायलट ने एटीसी रायपुर को किस खतरे के बारे में बताया?

अव्यवस्था पर सोशल मीडिया में फूटा भाजपाइयों का गुस्सा

Oplus_131072

जशपुर – भाजपा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में 2024 का लोकसभा चुनाव लड़ रही है।जिसको लेकर शीर्ष नेताओं का लगातार दौरा छत्तीसगढ़ में हो रहा है लेकिन जशपुर में राष्ट्रीय संगठन महामंत्री अजय जामवाल के चार्टर प्लेन एयरस्ट्रिप में अव्यवस्थाओं के कारण एक घण्टे तक खड़ा रहा।इस घटना को लेकर रायपुर से दिल्ली तक फोन घनघना गए।

दरअसल,भारतीय जनता पार्टी के क्षेत्रीय संगठन महामंत्री अजय जामवाल एक बड़ा नाम जिन्होंने पूर्वोत्तर राज्यों में कमल का फूल खिलाया और भाजपा को सत्ता में बिठाया।ऐसे बड़े नेता छतीसगढ में भाजपा को लोकसभा की सभी 11 सीट देने के लिए बैठक कर रहे हैं।श्री जामवाल 9 अप्रैल को चार्टर प्लेन से जशपुर में पार्टी की बैठक लेने पहुंचे जिसमें तीनों विधानसभा सीट के एमएलए जिसमें एक मुख्यमंत्री विष्णुदेव साय भी शामिल होकर पार्टी की गतिविधियों पर जानकारी दी।इसके बाद अजय जामवाल को अम्बिकापुर जाना था लेकिन उन्होंने दूसरे दिन सुबह जाने का प्रोग्राम बनाया और प्रोटोकॉल जारी कर दिया।

विश्वसनीय सूत्रों के अनुसार चार्टर प्लेन सुबह आगडीह एयरस्ट्रिप के ऊपर पहुंचा जहां पायलट को न तो स्मोक मिला न ही नीचे एम्बुलेंस दिखी।इसके बावजूद पायलट ने वीआईपी को लेने के लिए जोखिम उठाते हुए प्लेन उतार दिया।इसके बाद वीआईपी अजय जामवाल प्लेन पर बैठे लेकिन बताए अनुसार पायलट ने उड़ने से साफ मना कर दिया कि जब तक स्मोक नहीं दिखाएंगे और एम्बुलेंस नहीं आएगी प्लेन टेक ऑफ नहीं होगा।ऐसी स्थिति में वीआईपी को प्लेन के अंदर तब तक बैठना पड़ा जब तक दोनों व्यवस्थाएं पूरी नहीं हुई।इसमें एक घण्टे का समय लग गया।
ऐसी स्थिति में अजय जामवाल काफी असहज हो गए थे।
बताया जा रहा है कि मुख्यमंत्री की आगवानी में अधिकारी इतना व्यस्त हो गए थे कि उन्हें  एक दिन पहले शाम को जारी हो किया गया प्रोटोकॉल सक्षम अधिकारी तक नहीं पहुंच पाया और अव्यवस्थाएं सामने आ गईं।
भाजपा के तेजतर्रार नेता नितिन राय ने इस मामले में सोशल मीडिया फेसबुक में अपना गुस्सा जाहिर किया। जिनके पोस्ट पर कई यूजर ने भी इसे काफ़ी गम्भीर लापरवाही बता रहे हैं।
श्री राय ने बताया कि चार्टर प्लेन के उतरने और उड़ने के लिए जरूरी व्यवस्थाएं नहीं थी। फायर ब्रिगेड वाहन,एम्बुलेंस और सुरक्षा जवान तैनात नहीं थे।प्लेन के अंदर करीब एक घण्टे तक हमारे अति महत्त्वपूर्ण नेता अजय जामवाल और पवन साय अंदर पसीने से भीग हुए थे।

बहरहाल, मुख्यमंत्री विष्णुदेव साय के रवाना होने के बाद भाजपा के शीर्ष नेता की सुरक्षा को लेकर लापरवाही बरती गई या यह सामान्य घटना है,इसपर कोई कुछ बोल नहीं रहा है ।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
error: Content is protected !!
×

Powered by WhatsApp Chat

×