बिजली की बढ़ती दर को लेकर सारंगढ़ में कांग्रेसियों ने खोला मोर्चा

Estimated read time 1 min read
Spread the love

 

बिजली विभाग पीएचई विभाग और जिला प्रशासन के विरुद्ध मुखर हुए कांग्रेसी

अरुण मालाकार पुरुषोत्तम साहू गोल्डी नायक विष्णु चंद्र अनिका भारद्वाज रामनाथ सिदार राकेश पटेल शुभम वाजपेई गोलू अग्रवाल ने दिया ओजस्वी भाषण

सारंगढ़ / सारंगढ़ जिला मुख्यालय भारत माता चौक में जिला कांग्रेस ने बिजली की बढ़ती दर पीएचई विभाग के ठेकेदार द्वारा पाइप लाइन में सड़कों की बेतहाशा खुदाई, महंगाई जैसे जन समस्या के गंभीर मुद्दों को लेकर वृहद रूप से धरना प्रदर्शन कर विभाग की लापरवाही और साय सरकार की कमजोरी पर अपनी आवाज बुलंद की और मंच के माध्यम से ज्ञापन सौंपते हुए जिला प्रशासन को बड़े आंदोलन के हिदायत दी। ज्ञापन लेने आई तहसीलदार पूनम तिवारी को जिला अध्यक्ष अरुण मालाकार ने शांतिपूर्ण धरना आंदोलन और जन समस्याओं पर जल्द कार्यवाही की बात कही तो वही जिला कांग्रेस के महामंत्री गोल्डी नायक एवं युवा कांग्रेस अध्यक्ष शुभम बाजपाई ने उक्त अधिकारी से पूर्व में सौपे ज्ञापन पर अब तक क्या कार्रवाई हुई ? संबंधित विभाग ने क्या सुधार किया और अगर हमारी बात सिर्फ ज्ञापन तक सीमित है तो आप हमें आंदोलन करने के मजबूर ना करें कहते हुए कड़े शब्दों में जन समस्या के निराकरण की बात कही। वरिष्ठ कांग्रेसी संजय दुबे ने शासन और प्रशासन के चुप्पी भरे रवैये पर कड़ा विरोध जताया।

मंच को जिला कांग्रेस अध्यक्ष अरुण मालाकार ने संबोधित करते हुए सभी वरिष्ठ कांग्रेसियों और कार्यकर्ताओं का अभिवादन करते हुए कहा कांग्रेस ने सारंगढ़ को जिला बनाया अब उसे संवारने का काम सत्ता दल के नेताओं का है मगर सत्ता दल आपसी लड़ाई में इतने व्यस्त हैं कि सारंगढ़ के विकास की ओर किसी का ध्यान नहीं या फिर जनता यह समझ ले की सत्ता दल के नेताओं की ऊपर में सुनवाई नहीं हो रही है। सारंगढ़ शासकीय कन्या महाविद्यालय, खेल परिसर, नया जिला कलेक्ट्रेट, जिला अस्पताल और कई विभागीय कार्यालय खुलने के दिशा में कोई ठोस पहल नहीं हुई है पूरे छत्तीसगढ़ में भाजपा सरकार आने के बाद बिजली की कटौती और ऊपर से बिजली दर में बेतहाशा बढ़ोतरी जनता के खून चूसने जैसा है अभी भी वक्त है शासन प्रशासन इस दिशा में सार्थक पहल करें। प्रखर वक्ता गोल्डी नायक ने जिला प्रशासन को आडे हाथों लेते हुए कड़े शब्दों में कहा कि जिस तरह से सड़कों को पीएचई विभाग द्वारा खुदाई की गई है और उस पर मौसम की मार यह कार्य विभाग की लापरवाही और शासन की कमी को साफ उजागर करता है। पुलिस तंत्र जुआ सट्टा शराब पकड़ने में मशगूल है मगर सड़कों की यातायात व्यवस्था शहर की सुरक्षा का कोई सुध नहीं। गरीब आदमी जो बरसों से एकल बत्ती कनेक्शन में ₹50 का बिल अदा कर रहा है भाजपा शासन आने के बाद एकाएक उसका बिल 16000 रुपए आता है आखिर यह नेता और अधिकारी कब जागेगे। सत्ताधारी दल एक दूसरे की शिकायत करने में ही व्यस्त है। जिला पंचायत सभापति में अनिका भारद्वाज ने कहा कि एक तरफ महिलाओं को महतारी वंदन योजना परोसा जा रहा है तो दूसरी तरफ बेतहाशा महंगाई से भाजपा सरकार ने किचन का बजट बिगाड़ कर रखा है। रसोई गैस से लेकर सब्जी भाजी राशन का मूल्य दोगुना हो गया है। रामनाथ सिदार नपा उपाध्यक्ष ने बिजली कटौती के लिए भाजपा सरकार को आडे हाथों लिया और बिजली विभाग की लचर व्यवस्था को उजागर किया। जिला महामंत्री विष्णु चंद्र ने भाजपा सरकार में गांव में घंटे बिजली कटौती और बिजली बिल में वृद्धि को भाजपा का वसुलीकरण प्लान बताया। किसान नेता ब्लॉक कांग्रेस उपाध्यक्ष राकेश पटेल ने भाजपा सरकार में लंबे समय से हो रही बिजली कटौती को छात्र-छात्राओं और किसानों के लिए सबसे बड़ी समस्या बताई और कहा कि कांग्रेस सरकार में बिजली बिल हाफ की सुविधा थी एकल बत्ती में कम दर लिया जाता था। राजकमल अग्रवाल ने भाजपा सरकार के कमियों पर कटाक्ष किया। युवा कांग्रेस अध्यक्ष शुभम वाजपेई पार्षद ने बिजली कटौती और शहर में पीएचई विभाग द्वारा पाइप लाइन में गड्ढे खोदने और उसे वैसा ही छोड़ देने को जिला प्रशासन की लापरवाही बताया और कहा कि क्या ठेकेदार को अधिकारियों का संरक्षण है। अंतिम में ब्लॉक कांग्रेस अध्यक्ष पुरुषोत्तम साहू ने उक्त धरना प्रदर्शन के शांतिपूर्ण सफल आयोजन पर सभी को बधाई दी और कांग्रेस के कार्यकर्ताओं की प्रशंसा करते हुए आभार व्यक्त किया। मंच में वरिष्ठ कांग्रेसी सूरज तिवारी प्रदेश कांग्रेस प्रतिनिधि, संजय दुबे जिला उपाध्यक्ष, अजय बंजारे विधायक प्रतिनिधि नगर पालिका, सरिता गोपाल रबिंद्र नंदे मोहन पटेल छेदू साहू, अशोक अग्रवाल लेफ्टी, शाहजहा खान जिलाध्यक्ष अल्पसंख्यक विभाग, पार्षद प्रतिनिधि महेंद्र थवाईत शंकर चंद्र, किशोर निराला, लाला केशरवानी, दामोदर देवांगन बबलू वहीदार, मुकेश साहू, बीडीसी गण शंकर चौहान, रोहित महिलाने, दुर्गेश अजय, भागीरथी चंद्रा, लाल बहादुर चंद्र, मिलन दास, बोधराम साहू, युवा कांग्रेस नेता राम सिंह ठाकुर, दुर्गेश पटेल, विजय सिदार, आशीष नंदे शहर अध्यक्ष, विशाल आनंद, नावेद खान आदि कार्यकर्ता बड़ी संख्या में शामिल रहे। जिन्होंने प्रशासन के खिलाफ बिजली कटौती को लेकर जमकर नारेबाजी की। धरना आंदोलन के पश्चात तहसीलदार पूनम तिवारी, थाना प्रभारी कामिल हक ने आंदोलनकारी से ज्ञापन लिया।

यह भी पढ़े

अन्य खबरे

+ There are no comments

Add yours